कौमी एकता की मिसाल नौगजा उर्स

राज्य

 

उमरिया 9 जून – एक तरफ जहाँ देश में कुछ विघ्नसंतोषी लोग हिन्दू और मुस्लिम के बीच दरार पैदा करने का काम करते है वहीं उमरिया जिले के चंदिया में मनाया जाने वाला बाबा नौगजा शाह का उर्स  हिन्दू – मुस्लिम एकता का अनूठा उदाहरण है | इस उर्स में हर कौम के लोग बढ़ – चढ़ कर हिस्सा लेते है |

उमरिया जिले के चंदिया में लगातार 92 वर्ष से बड़े  अकीदत के साथ मनाया जा रहा रहमतुल्ला अलैह नौगजा शाह का उर्स देश भर में कौमी एकता का अनूठा उदाहरण है जहाँ एक तरफ आये दिन हिन्दू और मुस्लिम के बीच आपसी तकरार सुनने को मिलती है वहीं बाबा नौगजा के उर्स में चंदिया भर नही बल्कि जिले भर के हिन्दू और मुस्लिम मिलकर तीन दिन चलने वाले इस कार्यक्रम में तन, मन, धन, से पूरी आस्था के साथ तैयारियां करते है और उतना ही योगदान पुलिस एवम प्रसाशन का भी रहता है | नौगजा उर्श कमेटी के अध्यक्ष हाजी मोहम्मद कासिम खान  का कहना है की यहाँ लगभग 1 हजार दूकानदार अपनी दूकान लगाते हैं यह उर्स अपना 92 वर्ष पूरा कर चुका है इस वर्ष हम सब मिल कर तिरान्न्वा उर्स मना रहे है यहाँ देश के कोने कोने से लोग आते है और अपनी मन्नते  पूरी होने के लिए बाबा के पास दरख्वास्त  लगाते है और पूरी होने पर बाबा की मजार पर चादर चढाते है सबसे खास बात तो यह है की बाबा का करिश्मा है की मजार को नाप के ले जाने वाले की चादर पूरी नहीं होती है शायद ही कभी किसी की चादर पूरी हुई हो वहीं अध्यक्ष कहते है की मै बचपन से बाबा का मुरीद हूँ और मैंने बाबा से माँगा था की मुझे ऐसी नौकरी या रोजगार दें जिससे मै अपना परिवार अच्छे से पाल सकू और जो मेरे दरवाजे पर आये उसकी भी मदद कर सकू बाबा की दुआ से आज तक मेरे साथ ऐसा ही  होता आरहा है |

उर्स कमेटी के मीडिया प्रभारी मोहम्मद एजाज़ खान बताते हैं कि यहाँ जो भी सच्चे दिल से मन्नत मांगता है उसकी मन्नत पूरी होती है और मन्नत पूरी होने के बाद वो लोग दुबारा यहाँ चादर चढाने आते हैं, यहाँ मध्य प्रदेश के अलावा कई प्रदेश के लोग भी आते हैं, यहाँ 3 दिन का रात्रिकालीन उर्स होता है और कव्वालियाँ भी होती है जिसमें हजारों हजार लोग शामिल होते हैं और पोलीथीन और अन्य कचरा फ़ैल जाता है, उर्स समापन के बाद शाम को यहाँ एक ऐसी हवा चलती है जो सारा कचरा एक किनारे लगा देती है और पूरा मैदान साफ़ हो जाता है |

भाजपा नेता और नगर पंचायत उपाध्यक्ष अनुपम चतुर्वेदी का कहना है कि यह उर्स 92 साल से हो रहा है हिन्दू मुस्लिम और जितने यहाँ के लोग हैं सब मिल कर नौगजा बाबा के उर्स को मिल कर मनाते हैं ये हमारे पूरे क्षेत्र के और पूरे मध्य प्रदेश के हिन्दू मुस्लिम के एकता का प्रतीक है, हिन्दू मुसलमान और पुलिस एवं प्रशासन मिल कर यहाँ की साड़ी व्यवस्था देखते हैं यहाँ अन्य राज्यों से लोग आते हैं नौगजा बाबा की सबसे बड़ी विशेषता यही है कि जो मुराद मांगता है उसकी मुराद अवश्य पूरी होती है |

गौरतलब है की एक तरफ देश में लगातार हिन्दू मुस्लिम के बीच की खाई बढ़ती जा रही है लेकिन उमरिया जिले का चंदिया एक ऐसा कस्बा है जहाँ एक दूसरे के सुख – दुःख में सभी शामिल होते हैं बराबर कंधे से कंधा मिला कर साथ देते हैं |

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *