खनिज मंत्री ने स्वीकारा अवैध उत्खनन

Uncategorized

खनिज मंत्री ने कहा खनिज विभाग बिना दरवाजे खिड़की का घर

        

उमरिया 16 नवम्बर – कर्चुली कलार समाज के कार्यक्रम में आये खनिज मंत्री ने अवैध रेत उत्खनन के मामले पर पिछली सरकार को जम कर कोसा | स्वीकार भी किया कि प्रदेश में जम कर हो रहा है अवैध उत्खनन रोकने का किया जा रहा है प्रयास लेकिन रुक नहीं पा रहा है |

उमरिया जिले में कर्चुली कलार समाज के कार्यक्रम में आये प्रदेश के खनिज मंत्री प्रकाश जायसवाल से जब जिले में हो रहे रेत के अवैध उत्खनन के बारे में पूंछा गया तो उन्होंने कहा कि समस्या इस जिले की नही है पूरे प्रदेश की है, प्रदेश के 51 जिलों में से 43 जिलों में रेत पाई जाती है, लोगों की धारणा हो गई है कि खनिज विभाग मतलब रेत विभाग, लेकिन ऐसा नहीं है, साढ़े चार हजार करोड़ रुपया खनिज विभाग से मिलाता है जिसमें 69 करोड़ रूपया मात्र रेत से मिलता है, हल्ला पूरे प्रदेश भर है, निति के अभाव में है आज भी कलेक्टर, एस पी से मेरी चर्चा हुई, कई खदाने चालू हैं, कई खदाने बंद हैं, कई लावारिश खदाने हैं, उसका कोई माई – बाप नहीं है कोई निति नही है, जब चोरी करने का अवसर मिलेगा तो कोई भी चोरी करेगा, अपराध भी होते हैं, क़ानून – व्यवस्था भी खराब होती है लेकिन सरकार नियंत्रण करने का प्रयास करती है, इकट्ठा चोरी बंद हो जाय ये संभव नहीं है, खनिज विभाग एक ऐसा घर है जिसका खिड़की, दरवाजा सब गायब है, जिसके चलते रोक नहीं पा रहे हैं, निजी सेक्टर के रूप में उपयोग किया गया न सरकार के खाते में पैसा गया न पंचायत के खाते में पैसा गया, पूरे मध्य प्रदेश के खनिज का पैसा हमारे भारतीय जनता पार्टी के बड़े – बड़े नेता हैं, मुख्य मंत्री हैं, उनके भाई हैं, रिश्तेदार हैं उनके जेब में गया 15 सालों में |

गौरतलब है कि जब प्रदेश के खनिज मंत्री ही रेत के मामले में ऐसी बातें करे तो कहाँ से अवैध उत्खनन रुक सकता है, ऐसा लगता है कि इन्ही के ईशारे पर सारा गोरख धंधा चल रहा है और प्रदेश में क़ानून –  व्यवस्था की स्थिति बिगड़ती जा रही है |

                         

                                          

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *