पाकिस्तान vs बांग्लादेश: 20 साल बाद वर्ल्ड कप में दोनों टीमें होगीं आमने-सामने

खेल

वर्ल्ड कप के 43वें मैच में लंदन के लॉर्ड्स मैदान पर पाकिस्तान का मुकाबला बांग्लादेश से होगा। दोनों टीमें दूसरी बार वर्ल्ड कप इतिहास में आमने-सामने होंगी। पिछली बार 20 साल पहले 1999 में इंग्लैंड के नॉर्थेम्पटन में हुआ था। तब पाकिस्तान को 62 रन से हार का सामना करना पड़ा था। पाक टीम इस मुकाबले में उस हार का बदला लेना चाहेगी। पाकिस्तान की टीम बांग्लादेश के खिलाफ पिछले चार मुकाबलों में हार चुकी है। वह इस मैच में हार के इस क्रम को भी तोड़ना चाहेगा।

अंक तालिका में पाकिस्तान की टीम पांचवें स्थान पर है। 8 मैच में वह 4 जीतने में सफल रहा है। तीन में पाक को हार का सामना करना पड़ा। एक मैच में नतीजा नहीं निकला। दूसरी ओर बांग्लादेश 8 मैच में 3 जीता। 4 मुकाबलों में उसे हार का सामना करना पड़ा। एक मैच में नतीजा नहीं निकला।

पाक की सेमीफाइनल में पहुंचने की संभावनाएं

यदि पाकिस्तान 350 का टारगेट देती है, तो उसे 311 रन से मैच जीतना होगा।

यदि पाक 400 का टारगेट देता है, तो 316 रन अंतर से जीत जरूरी।

यदि पाक 450 रन का टारगेट देता है, तो 321 रन की जीत चाहिए।

बांग्लादेश पहले बल्लेबाजी करता है, तो पाक बाहर

यदि पाक के खिलाफ आखिरी मैच में बांग्लादेश टॉस जीतकर बल्लेबाजी का फैसला करता है, तो पाकिस्तान पहली गेंद फेंकने से पहले ही बाहर हो जाएगा। क्योंकि, आप लक्ष्य का पीछा करते समय सिर्फ अपना रन रेट बढ़ा सकते हो, जो कि न्यूजीलैंड को सेमीफाइनल से बाहर करने के लिए पर्याप्त नहीं होगा।

पाकिस्तान vs बांग्लादेश हेड टू हेड

दोनों टीमों के बीच अब तक कुल 36 मैच खेले गए। इनमें पाकिस्तान 31 मैच में जीता। बांग्लादेश को 5 मैच में सफलता मिली। इंग्लैंड के ग्राउंड पर दोनों टीमें दूसरी बार आमने-सामने होंगी। 2015 वर्ल्ड कप के बाद दोनों टीमों के बीच यह पांचवां मुकाबला होगा। पाकिस्तान की नजर पहली जीत पर होगी।

मौसम और पिच रिपोर्ट : लंदन में मौसम साफ रहेगा। तापमान 21 से 27 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहेगा। पिछले तीन मुकाबले में यहां पहले बल्लेबाजी करने वाली टीम जीती थी। पिच से तेज गेंदबाजों को मदद मिल सकती है। टॉस जीतने वाली टीम पहले बल्लेबाजी करना पसंद करेगी।

पाकिस्तान की ताकत

हारिस सोहैल : शोएब मलिक की जगह टीम में शामिल किए गए हारिस सोहैल ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 89 रन की पारी खेली थी। इसके बाद न्यूजीलैंड के खिलाफ उन्होंने 68 रन की पारी खेली। हारिस ने अफगानिस्तान के खिलाफ 27 रन बनाए थे। उन्होंने कुल 4 पारियों में 48 की औसत से 192 रन बनाए।

मोहम्मद आमिर : टूर्नामेंट में सबसे ज्यादा विकेट लेने के मामले में तीसरे नंबर पर काबिज मोहम्मद आमिर ने 7 मैच में 16 विकेट लिए। हालांकि, अफगानिस्तान के खिलाफ पिछले मैच में उन्हें सफलता नहीं मिली, लेकिन वे इस टूर्नामेंट में टीम के सबसे कामयाब गेंदबाज साबित हुए।

पाकिस्तान की कमजोरी

इमाम उल हक : टीम का यह ओपनर बल्लेबाज इस टूर्नामेंट में बड़ी पारी खेलने में नाकाम रहा। इमाम ने 7 मैच में 29.29 की औसत से 205 रन बनाए। इस दौरान उनका स्ट्राइक रेट 68.33 का रहा। इमाम ने एक मैच में 53 रन की पारी खेली थी। इसके बाद वे किसी भी मुकाबले में अर्धशतक नहीं लगा सके।

बांग्लादेश की ताकत

शाकिब अल हसन : दुनिया के नंबर एक ऑलराउंडर शाकिब ने टूर्नामेंट में अब तक बेहतरीन प्रदर्शन किया है। वे सबसे ज्यादा रन बनाने के मामले में दूसरे स्थान पर हैं। उन्होंने 7 पारियों में 90.33 की औसत से 542 रन बनाए हैं। इस दौरान उनका स्ट्राइक रेट 97.83 का रहा। वे टूर्नामेंट में अब तक दो शतक लगा चुके हैं। शाकिब ने गेंदबाजी में भी बेहतरीन प्रदर्शन किया है। उन्होंने 5.57 की इकोनॉमी से 11 विकेट लिए।

मुशफिकुर रहीम : टीम के अनुभवी बल्लेबाजों में से एक विकेटकीपर मुशफिकुर रहीम रन बनाने के मामले में टीम में दूसरे नंबर हैं। उन्होंने 7 पारियों में 58.50 की औसत से 351 रन बनाए। इस दौरान उनका स्ट्राइक रेट 93.10 का रहा। रहीम ने एक शतक और दो अर्धशतक लगाया है।

बांग्लादेश की कमजोरी

सौम्य सरकार आउट ऑफ फॉर्म : टीम के अनुभवी बल्लेबाजों में एक ओपनर सौम्य सरकार का प्रदर्शन इस टूर्नामेंट में औसत रहा है। उन्होंने 7 पारियों में में सिर्फ 144 रन बनाए। इस दौरान उनका औसत 20.57 और स्ट्राइक रेट 101.41 का रहा है। बांग्लादेश का टीम प्रबंधन चाहेगा कि वे पाकिस्तान जैसी मजबूत टीम के खिलाफ बेहतर प्रदर्शन करें।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *