प्रधान मंत्री सम्मान निधि लटकी अधर में

राज्य

उमरिया 28 जून – जिले में पटवारियों ने किया प्रधान मंत्री सम्मान निधि एप का बहिष्कार, किसानो को नहीं मिलेगा लाभ, योजना लटकी अधर में, पटवारियों ने लगाया अधिकारीयों पर प्रताड़ित करने का आरोप |

केंद्र सरकार ने देश भर के किसानो को प्रधान मंत्री किसान सम्मान निधि योजना चला कर सभी किसानो को 6 हजार रुपये साल देने की घोषणा किया और तीन किस्तों में राशि किसानो के खाते में भेजने की बात कहे, लेकिन जिले के पटवारियों ने एप का विरोध करते हुए उसका उपयोग बंद कर दिया, जिले के पटवारी लाम बंद होकर एस डी एम बांधवगढ़ को जिले के कलेक्टर के नाम ज्ञापन सौंपे | वहीँ पटवारी संघ के संयोजक राघवानंद श्याम बताये कि प्रधान मंत्री किसान सम्मान निधि के लिए जो शासन के द्वारा यूटिलिटी उपलब्ध कराई गई है उसमें कई तरह की तकनीकी खामिया हैं, उन तकनीकी खामियों का समाधान करने वाला उमरिया में कोई नहीं है और न ही हम लोगों को उस संबंध में कोई प्रशिक्षण दिया गया, इसके बाद हम लोगों को अन्य कार्य भी करना है, फार्म भी एकत्रित करना है, उसको लाकर फीडिंग भी करनी है, इतने के बावजूद अधिकारियों के द्वारा प्रताड़ित भी किया जा रहा है कि आप लोग कार्य नहीं करते हो, कोई कहता है 100 नंबर का प्रोग्रेस दो कोई कहता है 200 नंबर का प्रोग्रेस दो और न करने पर सस्पेंड करने की धमकी दी जा रही है, इन्क्रीमेंट बंद करने की नोटिश दी जा रही है, इसी कारण इन सब परिस्थितियों को देखते हुए इस यूटिलिटी का विरोध किया गया है और हम लोगों ने इस यूटिलिटी में लागइन करना बंद कर दिया है | वहीँ 3 दिन पूर्व जिले के कलेक्टर ने 10 पटवारियों को सस्पेंड करने का प्रेस नोट जनसंपर्क कार्यालय से जारी करवाया था इस बारे में कहे कि पेपर में मैं भी पढ़ा था लेकिन नाम किसी का नहीं है जिसके कारण मानपुर और पाली के सभी पटवारी मानसिक दबाब में हैं, त्रस्त हैं सभी को डर लगा है कि कहीं मेरा नाम तो नहीं है लेकिन किसी अधिकारी द्वारा तकनीकी और व्यवहारिक समस्यायों का समाधान करने की तरफ ध्यान नहीं दिया जा रहा है |

गौरतलब है कि अधिकारीयों द्वारा धमकी देने और मानसिक रूप से प्रताड़ित करने के साथ तकनीकी खामियों को दूर न करने के कारण सभी किसान इस योजना का लाभ पाने से वंचित रह जायेंगे ऐसे में प्रदेश सरकार को चाहिए कि किसान हित में योजना का सरलीकरण कर किसानो को लाभ दिलाएं |

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *