कियोस्क ऑपरेटर पर हमला, डेढ़ लाख की लूट, पुलिस जांच में जुटी, लगातार बढ़ रहा अपराध

क्राइम

सुरेन्द्र त्रिपाठी

उमरिया 8 सितम्बर – जिले के नोरोजाबाद थाना अंतर्गत ग्राम देवरी एवम धनवाही के बीच कियोस्क कर्मी के साथ हुई लूट की वारदात। बताया जाता है कि कियोस्क ऑपरेटर रामधनी विश्वकर्मा अपनी बाइक से तकरीबन डेढ़ लाख रुपये लेकर अपने कियोस्क सेंटर घुलघुली जा रहा था, इसी बीच सुबह तकरीबन 10 बजे ग्राम देवरी और धनवाही के बीच अज्ञात हमलावरों ने लाठी से हमला कर ऑपरेटर को लहूलुहान कर बैग में रखी पूरी रकम पार कर दिया। इस घटना के बाद पुलिस एक्टिव हुई है, बताया जा रहा है कि घटना के बाद एसडीओपी अरविंद तिवारी सहित थाना प्रभारी गायत्री तिवारी एवम पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंच इन्वेस्टिगेशन में जुटे है। इस मामले में कियोस्क संचालक सुविधा अग्रवाल ने बताया कि रोज की तरह ऑपरेटर अपने ग्रह ग्राम पिनोरा से आ रहा था,तभी अज्ञात बदमाशों ने हमला कर मोटी रकम पार की है। सूत्रों की माने तो लूट की वारदात को 2 से तीन लोगों ने अंजाम दिया है, आरोपी वारदात को अंजाम देने के बाद अपनी दोपहिया से फरार हो गए है। गौरतलब है कि कियोस्क संचालन की अनुमति उसी गांव या नगर में रहने वाले को मिली थी लेकिन कियोस्क संचालकों द्वारा भी फर्जी जानकारी देकर दूर दूर के इलाकों में केंद्र चालू कर दिया गया लेकिन सुरक्षा के कोई उपाय नही किये गए वहीं जिले के पुलिस की भी इन दिनों कार्यप्रणाली सुस्त है जिसके चलते लगातार अपराध में वृद्धि हो रही है, चाहे वो जुआ हो, सट्टा हो, चोरी हो, अवैध उत्खनन और परिवहन हो या अन्य कोई अपराध हो लगातार बढ़ रहे हैं और आरोपी पुलिस से दूर ही नजर आता है, वहीं देखा जाय तो अभी तक चंदिया थाना क्षेत्र में हुई हत्या की गुत्थी भी नही सुलझ पाई है, दूसरे तरफ इंदवार थाना क्षेत्र में मिली अज्ञात व्यक्ति की लाश की भी शिनाख्त नही हो पाई है। लोगों में चर्चा लगातार सुनी जा सकती है कि जब से रेत ठेकेदार के ढेरों गुंडे जिले में डेरा डाले हैं तब से लगातार अपराध भी बढ़ रहा है वहीं पुलिस का भी संरक्षण उनको मिला हुआ है, इतना ही नहीं आज तक मुसाफिरी भी दर्ज नही हुई है, ऐसे कैसे अपराध पर अंकुश लगेगा, अब देखना है कि इसके आरोपी पकड़े जाते हैं या यह भी ठंडे बस्ते में चला जायेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *