आरक्षक की मौत, पुलिस विभाग में हो रही मौतें चिंताजनक

राज्य

सुरेन्द्र त्रिपाठी

उमरिया 14 सितम्बर – कलेक्ट्रेट के ट्रेजरी गार्ड की डियुटी पर तैनात आरक्षक की हुई मौत, पुलिस मर्ग कायम कर जांच में जुटी, मौत के कारणों का पता लगाने का किया जा रहा है प्रयास।
उमरिया जिला पुलिस बल में पदस्थ आरक्षक फागू लाल कोकटे डिंडोरी जिले का रहने वाला था इससे पहले मानपुर थाने में पदस्थ था और लगभग 10 दिन पूर्व जिला पुलिस बल के हुए फेरबदल में उसको पुलिस लाइन भेजा गया था जहां से उसकी डियुटी ट्रेजरी गार्ड में लगाई गई थी, रात 2 बजे तक उसकी डियुटी थी और अपनी डियुटी पूरी कर गार्ड रूम में सोया था लेकिन आज सुबह 10 बजे करीब जब उसका साथी जगाने लगा तो नही उठा तब अपने अधिकारी को सूचना दिया और कोतवाली पुलिस मौके पर पहुंच कर जांच में जुट गई वहीं उसके भाई को भी सूचना दिया गया वो भी मौके पर पहुंच कर बताया कि हमको मानपुर में पदस्थ होने की जानकारी है लेकिन उसके बाद यह बताया था कि हमको लाइन में भेज दिया गया है लेकिन ट्रेजरी गार्ड की डियूटी की जानकारी नहीं है।
वहीं कोतवाली टी आई राकेश उइके भी बताये की सूचना मिलने पर आकर देखे तो सोता हुआ ही मिला है, अब पोस्टमार्टम के बाद के ही कारणों का पता चलेगा।
वहीं अगर देखा जाय तो 2 दिन पूर्व पुलिस प्रशिक्षण विद्यालय में पदस्थ ट्रेड आरक्षक मुकेश तिवारी डायनिंग हाल संतुष्टि में फांसी लगाकर जान दे दिए, जबकि जानकारी के अनुसार शादी के कई वर्षों बाद उनकी पत्नी को बच्चा होने वाला है वहीं सभी का कहना है कि मुकेश तिवारी धार्मिक और मिलनसार स्वभाव के साथ हँसमुख भी रहे, ऐसे व्यक्ति द्वारा आत्महत्या करना संदेह को जन्म देता है, वहीं ट्रेजरी गार्ड की डियुटी कर रहे फागू लाल की भी मौत शक को जन्म देती है आखिर पुलिस विभाग में ये क्या हो रहा है, कहीं कोरोना के चलते तो कर्मचारियों के मोरल डाउन नही हो रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *