मछली पकड़ने के विवाद में गोली चली, एक व्यक्ति घायल, पुलिस ने प्रकरण किया दर्ज

क्राइम

सुरेन्द्र त्रिपाठी

उमरिया 18 सितम्बर – जिले में नही थम रहा है अपराध, मछली मारने के विवाद पर चली गोली, युवक घायल, बाणसागर डैम में खलौंध निवासी मछुआरा प्रताप सिंह लोनी को ठेकेदार के गुंडे नितिन सिंह, लवकुश, शनी एवम अन्य लोग 12 बोर बंदूक से गोली मारे, जिसमें घायल प्रताप सिंह के पैर में 8 से 10 छर्रे लगे हैं। इस मामले जब इंदवार थाना प्रभारी सुन्द्रेश सिंह मराबी से बात किया गया तो बताये कि ठेकेदार के तरफ से मछली मारने और भरने का काम यही मछुआरे करते हैं, जब दिन में ठेकेदार के आदमी आकर पूंछे कि आज कितनी मछली पकड़े हो तो प्रताप सिंह लोनी बताया कि आज मछली नही मिली है इसी बात गुस्सा होकर 12 बोर की बंदूक से गोली चला दिए जिसमें प्रताप सिंह लोनी के पैर में 8 – 10 छर्रे लगे तो वहीं घायल होकर गिर गया और सभी आरोपी भाग गए, गोली चलने की आवाज सुन कर ग्रामीण और घायल के परिवार के लोग इकट्ठा हो गए।

आरोपियों के ऊपर धारा 307 का प्रकरण दर्ज कर कार्यवाई की जा रही है। गौरतलब है कि जिले में लगातार अपराध की संख्या में बढ़ोत्तरी होती जा रही है, पुलिस लगाम कसने में नाकाम दिख रही है, वहीं अगर देखा जाय तो चोरियों का भी ग्राफ ऊपर की तरफ बढ़ रहा है लेकिन चोरों का पता नही चल रहा है, हालांकि इन सब के पीछे यदि देखा जाय तो जिले की पुलिस को रेत, शराब और इंट्री वसूली से जब समय मिले तो अपराध को रोकने में काम करे। जबकि सभी काम के लिए अलग – अलग विभाग बने हैं, शराब के लिए एक्साइज विभाग, रेत और खनिज के लिए खनिज विभाग, वाहन चेक करने के लिए परिवहन और यातायात विभाग बने हैं लेकिन जिले में सभी काम पुलिस से लिया जाता है। ऐसे में अपराध कैसे रुकेगा। आवश्यकता है हर विभाग अपना – अपना काम करें नही तो सभी विभागों को पुलिस विभाग में मर्ज कर दिया जाय तो बल की भी संख्या बढ़ जाय और अपराधों में भी कमी आ जाय, वहीं अगर देखा जाय जिले में कई हत्या और चोरी के मामले अभी तक हल नही हो सके हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *