गणेश स्थापना

2 सितंबर को शिव-पार्वती महायोग में शुरू होगा गणेश उत्सव, मिट्‌टी के गणपति स्थापित कर घर में करें विसर्जित

Uncategorized

सोमवार के दिन पूरे भारत वर्ष में गणेश चतुर्थी का पर्व बड़े ही धूमधाम से मनाय़ा जायेगा। इस उत्साह के साथ हर किसी से यह भी अपील की जाती है कि पर्यावरण को प्रदूषित होने से बचाने के लिए गणपति महोत्सव के लिए मिट्टी की छोटी गणेश प्रतिमा स्थापित करें। और घर में ही उसे विसर्जित कर इस त्यौहार पर खुशहाली का एक नया संदेश दें।

ग्रहों की शुभ स्थिति में गणेश स्थापना लाएगी समृद्धि

ज्योतिषाचार्यों के अनुसार इस साल गणेश चतुर्थी पर ग्रह-नक्षत्रों की शुभ स्थिति से शुक्ल और रवि योग बन रहे हैं। इसलिये यह दिन और भी खास बन गया है। बताया जा रहा है कि सिंह राशि में चतुर्ग्रही योग भी बन रहा है। यानी सिंह राशि में सूर्य, मंगल, बुध और शुक्र रहेगा। सितारों की इस शुभ स्थिति के कारण यह पर्व और भी महत्वपूर्ण हो जाएगा। ज्योतिषशास्त्र के अनुसार मंगल के इस नक्षत्र में चंद्रमा होने से शुभ फल प्राप्त होते हैं। चित्रा नक्षत्र और चतुर्थी का संयोग सुबह लगभग साढ़े 8 बजे से शुरू होगा और पूरे दिन रहेगा।

खरीदारी के लिए है अबूझ मूहूर्त

गणेश चतुर्थी पर यदि आप प्रतिमा को अपने घर लाना चाहते है तो इसके लिये भी विशेष शुभ मुहूर्त है भाद्रपद शुक्लपक्ष की चतुर्थी तिथि 2 सितंबर को बुद्धि, समृद्धि और सौभाग्य के देवता का जन्मोत्सव है और इसी गणेश चतुर्थी पर्व पर ग्रहों की खास स्थिति के साथ दो शुभ योग भी बन रहे है। इस दिन गणेश स्थापना से ही गणेशोत्सव की शुरुआत हो जाएगी। अगले 10 दिन गणेशोत्सव मनाया जाएगा। अनंत चतुर्दशी के साथ उत्सव संपन्न होगा। गणेश चतुर्थी स्वयं सिद्ध अबूझ मुहूर्त होने से इस दिन नवीन व्यापार आरंभ, नए वाहन, गहने, वस्त्र, भवन-भूमि आदि खूब खरीदे जाएंगे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *