रेत ठेकेदार की दबंगई खुले आम रेत खदानों में चल रही मशीनें

क्राइम

सुरेन्द्र त्रिपाठी

उमरिया 13 जुलाई – जिले के मानपुर जनपद अंतर्गत बल्हौण्ड मुंहबोला रेत खदान के ठेकेदार आर एस आई स्टोन वर्ड प्राइवेट लिमिटेड के गुंडों द्वारा राजस्व की टीम से की गई गुंडागर्दी। इस मामले में ग्राम बल्हौण्ड निवासी बालेश्वर द्विवेदी बताये कि

बालेश्वर द्विवेदी

मेरे द्वारा मानपुर एस डी एम सिद्धार्थ पटेल जी को शिकायत की गई थी कि मुंहबोला रेत खदान में आर एस आई कम्पनी द्वारा शासन के निर्देश के बाद भी अवैध रूप से चैन माउंटीन मशीन से रेत का उत्खनन कर ट्रेक्टर ट्रालियों से भंडारण करवाया जा रहा है, जिस पर मानपुर एस डी एम, तहसीलदार, आर आई और कई पटवारी मौके पर रात लगभग 12 बजे पहुंचे तो वहां मौके पर 7 – 8 ट्रेक्टर और एक चैन माउंटीन मशीन पाये, कार्यवाई करने लगे तो रेत ठेकेदार के गुंडे एस डी एम साहब और उनकी टीम से विवाद करने लगे तभी किसी अधिकारी का फोन आया और सभी लोग वहां से वापस जाने लगे और मेरे से कहे कि अभी आते हैं तब मैं करीब 2 बजे रात तक इंतजार करता रहा और वो लोग वापस नही आये। वहीं इस मामले में मानपुर एस डी एम सिद्धार्थ पटेल से बाद किया गया तो उनका कहना रहा कि हम लोग शिकायत पर गए थे तो शायद ठेकेदार के लोगों को सूचना मिल गई होगी वहां पर मशीन नही मिली, दो ट्रेक्टर अवश्य मीले वह भी खाली थे चढ़ नही पा रहे थे उन पर कार्यवाई कर रहा हूँ और कोई विवाद नही हुआ है। गौरतलब है कि एस डी एम साहब को यह नही मालुम है कि जब खाली ट्रेक्टर नही चढ़ पा रहे थे तो भरे हुए कैसे चढ़ते हैं। वहीं जब जिला खनिज अधिकारी मान सिंह के पास गए तो वो कार्यालय में नही मिले उनके कर्मचारी बताये कि 4 दिन से कार्यालय नही आ रहे हैं, वहीं जब उनको फोन किया गया तो वो फोन नही उठाये हालांकि बाद में काल बैक किये और कहे कि अभी हम फील्ड में अखडाड़ तरफ हैं आने में टाइम लगेगा, और जब उनसे फोन पर पूंछा गया कि आर एस आई स्टोन वर्ड प्राइवेट लिमिटेड के जिले में कहां – कहां भंडारण है और कितना स्टॉक है तो इस बारे में कुछ नही बताये साथ ही जब पूंछा गया कि ये लोग अभी भी मशीनों से रेत का अवैध उत्खनन कर रहे हैं तो बोले हम दिखवा लेंगें।
गौरतलब है कि जिले में कहीं भी इस कम्पनी का भंडारण न होने के बाद भी लगातार मुंहबोला खदान की आन लाइन टी पी काट कर वन विभाग के क्षेत्र में आने वाली नदी बसकुटा से रेत का अवैध उत्खनन करवाने में लगे हैं, इतना ही नही जगह – जगह बैरियर लगा कर इनके गुंडे डेरा भी डाले हैं,

करकेली से बसकुटा रोड में, मानपुर में, महिमार में, बांका रोड में, पथरहटा रोड में बैरियर लगाए हुए हैं।

गौरतलब है कि सत्ता में आने के पूर्व भाजपा के नेता अवैध रेत उत्खनन, परिवहन के लिए टैंट लगा कर धरना प्रदर्शन कर विरोध व्यक्त कर रहे थे लेकिन सत्ता में आते ही वही अवैध रेत उत्खनन और परिवहन उनको वैध नजर आने लगा। वहीं जिले के अधिकारी भी ठेकेदार द्वारा खुले आम कराए जा रहे अवैध उत्खनन के मामले पर मौन व्रत धारण किये बैठे हैं, उनके पास बस एक ही जबाब है हम जांच करवा कर कार्यवाई करेंगे। जबकि नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल ने 1 जुलाई से 3 माह के लिए सभी नदियों से रेत उत्खनन पर प्रतिबंध लगाया हुआ है फिर भी उसके निर्देशों का कहीं पालन नही हो रहा है ऐसे में सरकार को चाहिए कि फालतू और उटपटांग आदेश करने वाली ऐसी संस्था को ही समाप्त कर दे ताकि नेता और अधिकारियों की रेत माफियाओं के साथ सांठ – गांठ में बाधक न बन सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *