गुणवत्ता हीन स्कूल का होगा लोकार्पण

प्रदेश

सुरेन्द्र त्रिपाठी

उमरिया 7 अक्टूबर – प्रदेश की कैबिनेट मंत्री, मीना सिंह 8 अक्टूबर को करेंगी 100 लाख रुपये की लागत से बने हाई स्कूल बचहा का लोकार्पण, ग्रामीण स्कूल की हालत से नाराज, 100 लाख रुपये बहे पानी मे।

उखड़ती छत


‌उमरिया जिले के मानपुर जनपद अंतर्गत आने वाले ग्राम बचहा में 100 लाख रुपये की लागत से हाई स्कूल का निर्माण पी आई यू विभाग द्वारा करवाया गया है जिसके बनते समय ही वरिष्ठ भाजपा नेता जिला पंचायत सदस्य मौजी लाल चौधरी ने घटिया निर्माण का आरोप लगाया था और वहां का निरीक्षण करने के बाद पाया था कि जमी हुई खराब सीमेंट को पीस कर उपयोग किया जा रहा था,

निर्माण होता स्कूल

जिसकी शिकायत भी दर्ज कराया था लेकिन उसकी गुणवत्ता में सुधार नहीं किया गया अब वो भवन बन कर तैयार हो गया जिसकी दीवारें अभी से फटी हुई है, छत चारो तरफ से टपक रही है, इतना ही नहीं छत को हाथ से छूते ही उखड़ रही है। स्कूल के लोकार्पण की खबर सुन कर ग्रामीण भर नही क्षेत्र के प्रतिष्ठित नागरिक

शेख जहूर

शेख जहूर कहे कि यह स्कूल किसी भी हालत में बच्चों के बैठने लायक नहीं है, वहीं पंचायत सचिव

स्वामीदीन तिवारी

स्वामीदीन तिवारी भी कहे कि अभी इस भवन में बहुत सी त्रुटियां हैं पहले उसको सुधार किया जाय फिर हैंडओवर लेने लायक होगा वहीं ग्रामीण

गुड्डा साहू

गुड्डा साहू भी स्कूल भवन के छत पर बैठकर हाथ से छत को उखाड़ कर दिखाते हुए कहे कि इस स्कूल में घटिया मटेरियल लगाया गया है और एकदम घटिया निर्माण किया गया है इस भवन में बच्चों की जान को खतरा है, लेकिन क्षेत्र की विधायक और प्रदेश सरकार में आजाक मंत्री मीना सिंह लोगों की शिकायत को दरकिनार कर लोकार्पण की तैयारी में लगी हैं और 8 अक्टूबर का कार्यक्रम भी तय किया जा चुका है।

टूटा दरवाजा


इस मामले में जिला शिक्षा अधिकारी उमेश धुर्वे से कोरोना के चलते सामने बात न होने के कारण फोन पर बात किया गया तो कहे कि अब लोकार्पण तो मंत्री जी करने जा रही हैं वहां पर पी आई यू के अधिकारी भी रहेंगे और ठेकेदार भी रहेंगे उसी समय देखा जाएगा क्या स्थिति है, हम तो टेक्निकल नही हैं जो इंजीनियर बता दिए हैं उसको जानते हैं।
गौरतलब है कि मंत्री तो अपनी उपलब्धि गिनवाने के लिए लोकार्पण करके रवाना हो जाएंगी लेकिन जब बच्चे इस गुणवत्ता हीन भवन में बैठ कर पढ़ाई करेंगे और कोई दुर्घटना घट जाएगी तब मात्र हाथ मलना ही शेष रह जायेगा, वहीं भवन की स्थिति देख कर गैर टेक्निकल व्यक्ति भी बता देगा कि घटिया निर्माण हुआ है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *